कांग्रेस की बैठक, मतगणना के लिए ली खास ट्रेनिंग

भोपाल: प्रदेश में कांग्रेस सत्ता वासपी के लिए पूरी तरह से आश्वस्त दिखाई दे रही है। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ दावा कर चुके हैं कि उन्हें इस बार 150 सीटें मिल रही हैं। कर्ज़ माफी की घोषणा करने के बाद से कांग्रेस को प्रदेश के किसानों से बड़ी उम्मीदें हैं। नतीजों से पहले आज कांग्रेस अध्यक्ष ने राजधानी भोपाल में मानव भवन में सभी 229 प्रत्याशियों की बैठक ली।

इस बैठक में राज्यसभा सदस्य विवेक तन्खा सहित अन्य कांग्रेस पदाधिकारीगण उपस्थित थे। कांग्रेस नतीजों से पहले लगातार ईवीएम के साथ छेड़छाड़ के आरोप लगाती रही है। प्रदेश के कई जिलों में लगातार स्ट्रांग रूम के बाहर लगी लाइट बंद होने से छेड़ छाड़ की पनपी आशंका को लेकर कांग्रेस सत्ताधारी भाजपा पर हमलावर रही है। प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ सभी प्रत्याशियों से रूबरू हुए। बैठक में प्रत्याशियों को मतगणना के दौरान विशेष सतर्कता बरतने के लिए मतगणना की बारीकियों और सावधानियों के बारे में विशेषज्ञों द्वारा जानकारी दी गई। उन्हें मतगणना के दौरान सतर्क रहने की सलाह ही गई। साथ ही कांग्रेस द्वारा मुख्य चुनाव आयुक्त को दिए गए ज्ञापन के विशिष्ट और खास बिंदुओं के बारे में भी अवगत कराया गया। डाक मतपत्रों की गड़बड़ियां भी सामने आई हैं, इसलिए ईवीएम के मतों की गणना के पूर्व डाक मतपत्र की गिनती पहले कराई जाएगी। इस दौरान सावधानियां बरतने के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश प्रत्याशियों के दिए गए। उम्मीदवारों को यह भी निर्देश दिए हैं कि चुनाव का परिणाम चाहे जो भी हो, उन्हें और उनके काउंटिंग एजेंट्स को मतगणना के आखिरी पल तक मौजूद रहना है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ के निदेश पर यह ट्रेनिंग आयोजित की गई। जिसमें राज्यसभा सदस्य विवेक तन्खा, लीगल सेल के समन्वयक शशांक शेखर, निर्वाचन आयोग कार्य के प्रभारी जेपी धनोपिया और अजय गुप्ता ने सभी को काउंटिंग के टिप्स दिए। ट्रेनिंग में मतगणना के अभिकर्ता बनने से लेकर विजयी उम्मीवार को प्रमाण पत्र देने तक की जानकारी दी गई।

ट्रेनिंग के दौरान मौजूद कई विधायकों ने अपने आकाओं का समर्थन किया उन्होंने उनको मुख्यमंत्री पद का दावेदार बताया कुछ ने तो अपनी सीट तक छोड़ने की पेशकश कर डाली हालांकि इस दौरान बड़े नेता खुलकर बोलने से बचते रहे वहीं इस दौरान ट्रेनिंग के स्थल के बाहर लगा पोस्टर काफी चर्चा का विषय रहा इसे कांग्रेस का अति उत्साह और अति आत्मविश्वास बताया जा रहा है पोस्टर लगाने वाले व्यक्ति ने ट्रेनिंग में आए सभी विधायक प्रत्याशियों को विधायक और मंत्री बता डाला।

About Mohan Gurjar

Mohan Gurjar

Check Also

1 साल पुराना वीडियो बना डर का कारण, लोगों ने झूलों से बनाई दूरी

उज्जैन: जिले में एक सप्ताह से व्हाट्सएप एप्लीकेशन पर मेले में झूले की पालकी टूटने से …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

पाकिस्तान से ‘काला तीतर’ लाकर मुसीबत में फंसे सिद्धू , दर्ज हुआ मामला     |     MP चुनाव में हार के बाद अब बागियों पर कार्रवाई करने की तैयारी में BJP     |     MP के किसानों को बड़ी सौगात, 10 दिन में होगा किसानों का कर्जा माफ     |     राफेल डील पर बोले श्रीकांत शर्मा- राहुल गांधी के मुंह पर तमाचा सुप्रीम कोर्ट का फैसला     |     शादी में डिजाइनर अबू जानी संदीप खोसला के लंहगे में दिखी ईशा     |     जानें राजस्थान का ”जादूगर” कैसे बन गया कांग्रेस का ”किंगमेकर”     |     राफेल पर राहुल नहीं मांगेंगे माफी, कांग्रेस ने कहा-केंद्र चाहे तो लाए विशेषाधिकार नोटिस     |     राजस्थान के सम्राट बने ‘अशोक’, पायलट डिप्टी सीएम     |     नाबालिग का अपहरण कर बनाया अश्लील वीडियो, आरोपियों को मिली सजा     |     1 साल पुराना वीडियो बना डर का कारण, लोगों ने झूलों से बनाई दूरी     |