अमेरिका में मध्यावधि चुनाव आज, भारत की समोसा ब्रिगेड के12 मजबूत दावेदार

वॉशिंगटनः  आज अमेरिका में मध्यावधि चुनाव हो रहे हैं। इसके तहत अमेरिकी संसद यानि सीनेट के उच्च सदन की 100 में से 35 सीटों और हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स यानी निचले सदन की सभी 435 सीटों पर सांसद चुने जाएंगे। इस बार के चुनाव में भारत की समोसा ब्र्रिगेड के रिकॉर्ड 12 भारतीय-अमेरिकियों के अमेरिकी संसद में चुने जाने का मौका है। 10 साल पहले तक यूएस कांग्रेस (संसद) में सिर्फ बॉबी जिंदल ही इकलौते भारतीय-अमेरिकी थे। 2016 में रिकॉर्ड 5 भारतीय अमेरिकी संसद पहुंचे। इन सभी ने डेमोक्रेट पार्टी के टिकट पर चुनाव जीता था। इस बार के 12 भारतवंशी उम्मीदवारों में 10 अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की रिपब्लिकन पार्टी के खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं।

भारतवंशी उम्मीदवार    पार्टी सदन
हीरल तिपिरनेनी  डेमोक्रेट हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव
अनीता मलिक  डेमोक्रेट हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव
प्रमिला जयपाल  डेमोक्रेट हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव
राजा कृष्णमूर्ति  डेमोक्रेट हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव
रो खन्ना  डेमोक्रेट हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव
डॉ अमी बेरा  डेमोक्रेट हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव
प्रेस्टन कुलकर्णी  डेमोक्रेट हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव
संजय पटेल  डेमोक्रेट हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव
हैरी अरोड़ा रिपब्लिकन हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव
जितेंद्र दिगांवकर रिपब्लिकन हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव
आफताब पुरेवल  डेमोक्रेट हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव
शिव अयादुरै निर्दलीय    सीनेट

अमेरिका की आबादी में अभी भारतीय 1% से भी कम हैं। हालांकि, राजनीति में उनका प्रभाव देखते हुए डेमोक्रेटिक पार्टी ने इस साल भी 9 भारतीयों को उम्मीदवार बनाया है। इनमें से 4 अपनी जीती हुई सीट बचाने के लिए लड़ेंगे। दूसरी तरफ रिपब्लिकन पार्टी ने भी 2 उम्मीदवारों टिकट दिया है, जबकि एक पूर्व रिपब्लिकन इस साल निर्दलीय ही चुनाव लड़ेंगे। मध्यावधि चुनाव में भारतीय मूल की पहली महिला सांसद प्रमिला जयपाल की जीत आसान मानी जा रही है। लेकिन तीन बार के सांसद अमी बेरा का मुकाबला कैलिफोर्निया सीट पर रिपब्लिकन के मजबूत नेता एंड्रू ग्रांट से है। इलिनॉय सीट से रिपब्लिकन पार्टी ने कृष्णमूर्ति के सामने भारतीय-अमेरिकी जितेंद्र दिगांवकर को खड़ा किया है।

भारत की समोसा ब्रिगेड को बचानी होंगी अपनी सीटें
2012 के चुनाव में भारत के डॉक्टर अमी बेरा ने चुनाव जीतकर हाउस ऑफ रिप्रेंजेटेटिव्स में जगह बनाई थी। वे भारत के दिलीप सिंह सौंद (1957) और बॉबी जिंदल (2004) के बाद संसद पहुंचने वाले तीसरे भारतीय थे। अमी बेरा के चुने जाने के बाद भारतीय मूल के तीन और उम्मीदवारों ने चुनाव जीतकर संसद में जगह बना ली। इनमें इलिनॉय से जीतकर राजा कृष्णमूर्ति, कैलिफोर्निया से रो खन्ना और वॉशिंगटन से प्रमिला जयपाल सदन में पहुंचे थे। सदन में चार सांसदों के पहुंचने के बाद इस ग्रुप को समोसा ब्रिगेड नाम से पहचाना जाता है।

About Mohan Gurjar

Mohan Gurjar

Check Also

ग्लोबल वॉर्मिंग पर लगोगी लगाम, कोरियाई वैज्ञानिकों ने खोज लिया समाधान

सियोल: वैज्ञानिकों ने एक ऐसी तकनीक विकसित की है जो न केवल बिजली उत्पन्न करेगी बल्कि …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हरदा: जनसुनवाई में एडीएम के विवादित बोल , क्या घर घर गॉव गॉव खुलवा दु खरीदीं केंद्र, किसानों ने लगाया आरोप     |     आमिर खान की ‘रुबरू रोशनी’ की स्पेशल स्क्रीनिंग में शामिल हुए बॉलीवुड के ये सितारे     |     भोपाल से चुनाव लड़ने की खबर पर करीना ने दिया जवाब, कहा- इतनी फुर्सत नहीं…     |     PICS: ऑफ शाॅल्डर टाॅप में नेहा ने दिखाए हुस्न के जलवे     |     कोहली को खली हार्दिक की कमी, बोले- अब विशेषज्ञ तेज गेंदबाज को देना पड़ेगा चांस     |     11 साल बाद भज्जी को हुआ पछतावा, बोले- नहीं मारना चाहिए था श्रीसंत को थप्पड़     |     स्टीपास और कोलिंस ऑस्ट्रेलियन ओपन में विजेता बनने से 2 कदम दूर     |     अफगान सैन्य अड्डे पर तालिबान हमले में 100 से ज्यादा सुरक्षाकर्मियों की मौत     |     इंडोनेशिया में 6.0 तीव्रता का भूकंप के झटके     |     पाकिस्तान की कोयला खदान में धमाका, 3 की मौत     |