शिवसेना और NCP के निशाने पर भाजपा, कांग्रेस ने लगाया विधायकों की खरीद फरोख्‍त का आरोप

मुंबई। महाराष्ट्र विधानसभा का कार्यकाल नौ नवंबर को खत्म हो जाएगा। राज्‍य में सरकार बनेगी या राष्‍ट्रपति शासन लागू होगा इस बारे में आज सस्‍पेंस खत्‍म भी हो सकता है। कल राज्यपाल बीएस कोश्यारी ने कानूनी पहलुओं और संवैधानिक मुद्दों पर महाधिवक्ता आशुतोष कुंभकोणी से राजभवन में चर्चा की थी। इस बीच भाजपा और शिवसेना के बीच तनातनी चरम पर पहुंच चुकी है। इसे देखते हुए जल्द सरकार गठन के आसार कम हैं और राष्ट्रपति शासन की आशंका गहराने लगी है। महाराष्ट्र के पूर्व महाधिवक्ता श्रीहरि एनी ने बताया कि नौ नवंबर के बाद सरकार गठन के सारे विकल्‍प बंद हो जाएंगे क्‍योंकि कानून में इसका प्रावधान नहीं है।

शिवसेना और NCP ने भाजपा पर बोला हमला

इस बीच शिवसेना नेता संजय राउत ने शुक्रवार को कहा कि यदि महाराष्‍ट्र में राष्‍ट्रपति शासन लागू होता है तो यह राज्‍य के लोगों का अपमान होगा। यह गलत और संविधान के खिलाफ होगा। उन्‍होंने कहा कि मुझे अटल बिहारी वाजपेयी का वह संदेश याद है कि हम भागेंगे नहीं, लड़ेंगे और अंत में जीतेंगे। महाराष्ट्र कभी नहीं झुकेगा। विधायकों की खरीद फरोख्‍त के आरोपों पर राउत ने कहा कि महाराष्ट्र में यदि कोई कर्नाटक दोहराने की कोशिश कर रहा है तो वह अपनी कोशिश में सफल नहीं होगा। वहीं राकांपा ने भाजपा पर राज्‍य को राष्‍ट्रपति शासन की ओर ले जाने का आरोप लगाया। एनसीपी के प्रवक्‍ता नवाब मलिक (Nawab Malik) ने कहा कि महाराष्‍ट्र इस अपमान को सहन नहीं करेगा। इतिहास गवाह है कि महाराष्‍ट्र दिल्‍ली के सिंघासन के कभी नहीं झुका है।

कांग्रेस ने लगाया विधायकों की खरीद-फरोख्त का आरोप 

दूसरी ओर कांग्रेस ने विधायकों की खरीद-फरोख्त का आरोप लगाया है। कांग्रेस के नेता विजय वडेट्टीवार ने आरोप लगाया है कि महाराष्ट्र में विधायकों को पार्टी बदलने के लिए 25 करोड़ से 50 करोड़ रुपए तक की पेशकश की जा रही है। कांग्रेस नेता ने यह भी दावा किया कि इसके लिए कांग्रेस विधायकों से फोन पर संपर्क करने की कोशिशें की जा रही हैं। वडेट्टीवार ने कहा कि शिवसेना भी दावा कर चुकी है कि उसके एक विधायक को तोड़ने के लिए 50 करोड़ रुपये की पेशकश की गई थी। फ‍िलहाल, पल पल बदलते घटनाक्रम के बीच कांग्रेस के इस आरोप ने राज्‍य के सियासी माहौल को और गरमा दिया है। वहीं कांग्रेस कांग्रेस नेता नितिन राउत ने कहा है कि ऐसी खबरें हैं कि कुछ कांग्रेसी विधायकों को भाजपा नेताओं ने पैसे देने की पेशकश की थी। हम कर्नाटक जैसे हॉर्स ट्रेडिंग पैटर्न को रोकने की पूरी कोशिश करेंगे।

नहीं बनाएंगे अल्पमत की सरकार : BJP

भाजपा नेताओं के प्रतिनिधिमंडल ने कल यानी गुरुवार को राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात भी की लेकिन सरकार बनाने का दावा पेश नहीं किया। एक ओर शिवसेना अपना मुख्यमंत्री बनाने की मांग पर अड़ी हुई है तो वहीं दूसरी ओर भाजपा सीएम पद पर किसी समझौते को तैयार नहीं दिख रही है। कल राज्यपाल से मिलने से पहले प्रतिनिधिमंडल में शामिल वरिष्‍ठ भाजपा नेता सुधीर मुनगंटीवार ने कहा कि हम राज्यपाल के पास सरकार बनाने का दावा करने नहीं जा रहे हैं। भाजपा किसी भी सूरत में अल्पमत की सरकार नहीं बनाएगी।

शिवसेना ने विधायकों को होटल भेजा 

कल शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने विधायकों के साथ बैठक की। इसके बाद पार्टी के सभी विधायकों को एक होटल में भेज दिया गया। शिवसेना ने कल कहा था कि भाजपा को एलान करना चाहिए कि वह सरकार बनाने में सक्षम नहीं हैं। इसके बाद हम कदम बढ़ाएंगे। शिवसेना नेता संजय राउत ने भाजपा पर आरोप लगाया था कि वह सरकार गठन में देरी कर राष्ट्रपति शासन थोपने की स्थिति बना रही है। उन्‍होंने कहा कि भाजपा नेता कल राज्यपाल से मिलने गए थे लेकिन खाली हाथ लौट आए क्योंकि उनके पास बहुमत का आंकड़ा नहीं है।

जोड़तोड़ की आशंका के चलते पार्टियां सतर्क

इस बीच, जोड़तोड़ की आशंका के चलते पार्टियां सतर्कता भी बरत रही हैं। शिवसेना ने अपने विधायकों को एक होटल में ठहराया है वहीं कांग्रेस नेता हुसैन दलवई ने कहा कि सभी कांग्रेसी विधायक एकजुट हैं। कोई भी विधायक पार्टी से बाहर नहीं जा रहा है। उन्‍होंने दावा किया कि सभी विधायक पार्टी हाईकमान के आदेशों का पालन करेंगे। भाजपा को सरकार बनाना चाहिए। राकांपा हमारी गठबंधन सहयोगी है और वे मेरे साथ हैं। महाराष्‍ट्र के लोगों ने हमें राज्‍य की संरक्षा के लिए चुना है।

दो बार रहा राष्ट्रपति शासन 

चुनाव नतीजे आने के 15 दिन बाद भी महाराष्ट्र में समय रहते सरकार नहीं बन पाना ऐतिहासिक है। महाराष्‍ट्र के 59 वर्षों के सियासी इतिहास में केवल दो बार राष्ट्रपति शासन रहा है। सन 1980 में फरवरी से जून और बाद में साल 2014 में सितंबर से अक्टूबर तक महज 33 दिन तक राष्ट्रपति शासन लागू हुआ था। शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने कल कहा था कि शिवसेना को मुख्यमंत्री पद देना हो तो भाजपा नेता हमें फोन करें अन्‍यथा नहीं तो जनता के सामने जाकर बताएं कि हम विपक्ष में बैठना चाहते हैं।

About Mohan Gurjar

Mohan Gurjar

Check Also

Maharashtra: सरकार गठन के लिए आज का दिन अहम, भाजपा-शिवसेना में तनातनी के बीच नजरें राज्‍यपाल पर

मुंबई। महाराष्ट्र विधानसभा का कार्यकाल आज यानी शुक्रवार को खत्म हो जाएगा। राज्‍य में सरकार …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सवा सौ मुकदमे वाला नक्सली कुंदन पाहन लड़ेगा झारखंड चुनाव, सांसद-मंत्री DSP की हत्‍या का संगीन आरोप     |     पिघलती नजर आई रिश्तों में जमी बर्फ, कैप्टन ने इमरान को बताया- आपके चाचा मेरे पिता की टीम से खेलते थे क्रिकेट     |     रोज कपड़े की दुकान पर आकर बैठ जाती है ये गाय, दुकानदार का दावा- ब्रिकी में हुई बढ़ोतरी     |     शिवसेना को बाहर से समर्थन देगी कांग्रेस,6.30 बजे होगा औपचारिक ऐलान     |     JNU छात्रों के प्रदर्शन की वजह से छह घंटे तक ऑडिटोरियम में फंसे रहे केंद्रीय मंत्री     |     द‍हलने से बच गया पटना, बंद मकान में बड़ा केन बम मिलने से हड़कंप; जांच जारी     |     नई कैबिनेट की उल्‍टी गिनती शुरू, नए मंत्रियों पर चर्चा को दिल्‍ली में मनोहर, जानें कौन से नाम हैं तय     |     चक्रवात ‘बुलबुल’ की विनाशलीला देखने पहुंचीं ममता, मृतकों के परिजनों को दो लाख का मुआवजा     |     BJP विधायक की कार पलटी, गनर और ड्राइवर भी घायल; तीनों निजी अस्पताल में भर्ती     |     सिकुड़ गई जम्‍मू-कश्‍मीर की प्रसिद्ध डील झील, सरकार घोषित करने जा रही ईको सेंसिटिव जोन     |    

Makrai Samachar

MAKDAI SAMACHAR © 2018, All Rights Reserved. | Design & Developed by SMC Web Solution.


MAKDAI SAMACHAR © 2018, All Rights Reserved. | Design & Developed by SMC Web Solution.