Wednesday , November 13 2019

UN में भारत की फटकारः मामूली फायदों के लिए आतंकवाद को बढ़ावा दे रहा पाक

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में कश्मीर में महिला अधिकारों का मुद्दा उठाने के लिए पाकिस्तान पर जमकर बरसते हुए भारत ने कहा कि देश एक ऐसे तंत्र को दर्शाता है जो मामूली राजनीतिक फायदों के लिए आतंकवाद और “विकास विरोधी” चरमपंथी विचारधाराओं को बढ़ावा देता है तथा महिलाओं की आवाज को “दबाता” है। भारत की तरफ से यह कड़ी प्रतिक्रिया संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान की निवर्तमान दूत मलीहा लोधी द्वारा 29 अक्टूबर की चर्चा के दौरान कश्मीर में स्थिति, अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को रद्द किए जाने और घाटी में महिला अधिकारों पर टिप्पणी किए जाने के बाद आई है।

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी मिशन की प्रथम सचिव पॉलोमी त्रिपाठी ने ‘महिला, शांति एवं सुरक्षा’ विषय पर सुरक्षा परिषद की खुली चर्चा के दौरान सोमवार को कहा, “आज जब हर कोई सामूहिक प्रयास पर जोर दे रहा है, वहीं एक प्रतिनिधिमंडल मेरे देश में महिला अधिकारों के बारे में अर्नगल बयानबाजी कर रहा है।” पाकिस्तान का नाम लिए बिना, त्रिपाठी ने कहा कि प्रतिनिधिमंडल, “ ऐसे तंत्र का प्रतिनिधित्व करता है जो तुच्छ राजनीतिक लाभ के लिए आतंकवाद और प्रगति विरोधी चरमपंथी विचारधाराओं को बढ़ावा देता है । इसने हमारे क्षेत्र और उससे परे, महिलाओं एवं उनके परिवारों की कई पीढ़ियों का जीवन तबाह कर दिया है।”

संयुक्त राष्ट्र के विभिन्न मंचों पर कश्मीर मुद्दा उठाने की इस्लामाबाद की आदत का जिक्र करते हुए त्रिपाठी ने कहा कि विचाराधीन एजेंडा से बिना किसी प्रासंगिकता के निराधार आरोप लगाना इस देश की आदत बन गई है और यह, “इस प्रतिनिधिमंडल का मुख्य विषय बन गया है।” त्रिपाठी का इशारा लोधी की टिप्पणी पर था जो उन्होंने 29 अक्टूबर की चर्चा के दौरान जम्मू-कश्मीर पर की थी। उन्होंने जोर देकर कहा कि भारत इन निराधार आरोपों को सिरे से खारिज करता है। उन्होंने कहा, ‘‘परिषद ने पहले भी ऐसी कपटपूर्ण बातों पर कोई ध्यान नहीं दिया है और हमें भरोसा है कि परिषद अब भी ऐसा ही करेगी और यह सुनिश्चित करेगी कि इस तरह के एजेंडा से आतंकवाद को आगे कोई मदद नहीं मिल सके।”

आतंकवाद से निपटने के सार्थक सामूहिक प्रयास नहीं : नायडू
‘रिपोर्ट ऑफ द ह्यूमन राइट्स काउंसिल’ पर महासभा के सत्र में संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी उपप्रतिनिधि के. नागराज नायडू ने कहा कि आतंकवाद के मानवाधिकार उल्लंघन के सबसे बुरे रूप में उभरने के बावजूद इस बुराई से निपटने के सार्थक संग्रहित प्रयास नदारद हैं। संयुक्त राष्ट्र से यह बात कहते हुए भारत ने आतंकवादियों को पनाहगाह उपलब्ध नहीं होने देने और आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम देने वालों को प्रत्यर्पित करने के लिए राष्ट्रों के बीच समन्वयन पर जोर दिया। के. नागराज नायडू ने कहा कि भारत संतुलित दृष्टिकोण का पक्ष लेने की परिषद की भूमिका की सराहना करता है जो मानवाधिकारों पर आतंकवाद के असर को समझता है और आतंकवाद के इस खतरे से निपटने में अंतरराष्ट्रीय समन्वयन का समर्थन करता है। नायडू ने कहाआतंकवाद को सबसे बड़ी वैश्विक चुनौती मानने के बावजूद, इस खतरे से निपटने के कोई सार्थक सामूहिक प्रयास नहीं नजर आते हैं।”

About Mohan Gurjar

Mohan Gurjar

Check Also

Kabul Car bomb explosion: सात लोगों की मौत, अफगानिस्तान गृह मंत्रालय ने दी जानकारी

काबुल। Kabul Car bomb explosion: अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में भीषण बम विस्फोट की खबर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Rahul Gandhi के “चौकीदार चोर है” के बयान पर भी कुछ देर में आने वाला है SC का फैसला     |     भाजपा ने महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगने के लिए शिवसेना को जिम्मेदार ठहराया     |     खट्टर सरकार का पहला कैबिनेट विस्तार कल, नए मंत्री लेंगे शपथ     |     विधायक लोधी की सदस्यता बहाल करने के लिए BJP प्रतिनिधि मंडल राज्यपाल से करेगा मुलाकात     |     कमलनाथ मजबूत CM बनकर दिखाएं, मजबूर नहीं: लक्ष्मण सिंह     |     अमेरिकी जनता के सामने सुनवाई, पता चलेगा कितना सच और कितना झूठ बोलते हैं ट्रंप     |     दिल्ली: हाइड्रोजन आधारित ईंधन तकनीक से दूर होगा वायु प्रदूषण, SC ने केंद्र से उपाय तलाशने को कहा     |     राफेल, राहुल और सबरीमला मामलों पर कल कोर्ट में ‘सुप्रीम’ फैसलों का दिन     |     CJI का दफ्तर RTI के दायरे में आएगा या नहीं, सुप्रीम कोर्ट का फैसला कुछ देर में     |     अयोध्या पर फैसले के बाद साइबर पैट्रोलिंग ने सोशल मीडिया को जकड़ा, 99 अफवाह फैलाने वाले गिरफ्तार     |    

Makrai Samachar

MAKDAI SAMACHAR © 2018, All Rights Reserved. | Design & Developed by SMC Web Solution.


MAKDAI SAMACHAR © 2018, All Rights Reserved. | Design & Developed by SMC Web Solution.