Wednesday , December 11 2019

अमरनाथ दर्शन में टूटा पिछले 4 साल का रिकॉर्ड, कड़ी सुरक्षा के साथ दर्शन कर रहे श्रद्धालु

श्रीनगरः इस वर्ष पिछले 16 दिनों में लगभग दो लाख श्रद्धालुओं ने अमरनाथ यात्रा की है, जो पहले पखवाड़े में पिछले चार साल में सर्वाधिक है। अधिकारिकयों ने यह जानकारी दी।  बुधवार को जम्मू से 4,584 श्रद्धालुओं का एक और जत्था रवाना हुआ। श्री अमरनाथ जी श्रइन बोर्ड के अधिकारियों ने कहा कि एक जुलाई को यात्र शुरू होने के बाद से अब तक 16 दिनों में 2,05,083 श्रद्धालुओं ने समुद्र तल से 3,888 मीटर ऊंचाई पर स्थित पवित्र शिवलिंग के दर्शन कर लिए हैं।

अमरनाथ यात्रा के एक अधिकारी ने कहा, ‘पिछले चार साल में पहले पखवाड़े में अमरनाथ यात्रा करने वाले श्रद्धालुओं की यह सर्वाधिक संख्या है।’ पुलिस ने आज यहां कहा कि 3,967 यत्रियों का एक और जत्था आज सुबह घाटी के लिए दो सुरक्षा काफिले में रवाना हुआ। पुलिस ने आगे बताया, ‘भगवती नगर यात्री निवास से इनमें से 1,972 यात्री बालटाल आधार शिविर जा रहे हैं जबकि 2,612 यात्री पहलगाम आधार शिविर जा रहे हैं।’

एसएएसबी के अधिकारियों के अनुसार, प्राकृतिक कारणों से अब तक 16 तीर्थयात्रियों की मौत हो चुकी है। श्रद्धालुओं के अनुसार, अमरनाथ गुफा में बर्फ की विशाल संरचना बनती है जो भगवान शिव की पौराणिक शक्तियों की प्रतीक है। तीर्थयात्री पवित्र गुफा तक जाने के लिए या तो अपेक्षाकृत छोटे 14 किलोमीटर लंबे बालटाल मार्ग से जाते हैं या 45 किलोमीटर लंबे पहलगाम मार्ग से जाते हैं। बालटाल मार्ग से लौटने वाले श्रद्धालु दर्शन करने वाले दिन ही आधार शिविर लौट आते हैं।

दोनों आधार शिविरों पर हालांकि तीर्थ यात्रियों के लिए हैलीकॉप्टर की भी सेवाएं हैं।स्थानीय मुस्लिमों ने भी हिंदू तीर्थयात्रियों की सुविधा और आसानी से यात्र सुनिश्चित कराने के लिए बढ़-चढ़कर सहायता की है। पवित्र गुफा की खोज सन 1850 में एक मुस्लिम चरवाहा बूटा मलिक ने की थी। किवदंतियों के अनुसार, एक सूफी संत ने चरवाहे को कोयले से भरा एक बैग दिया था, बाद में कोयला सोने में बदल गया था। लगभग 150 सालों से चरवाहे के वंशजों को पवित्र गुफा पर आने वाले चड़ावे का कुछ भाग दिया जाता है। इस साल 45 दिवसीय अमरनाथ यात्र का समापन 15 अगस्त को श्रवण पूर्णिमा के साथ होगा।

About Mohan Gurjar

Mohan Gurjar

Check Also

असम में CAB पर बवाल: प्रदर्शनकारियों और सुरक्षा बलों के बीच झड़प, बस पर पत्थरबाजी

गुवाहाटी: असम में नागरिकता (संशोधन) विधेयक के खिलाफ दो छात्र संगठनों के राज्यव्यापी बंद के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Citizenship Bill पर शिवसेना का यू-टर्न, उद्धव बोले- राज्यसभा में नहीं करेंगे समर्थन जबतक…     |     Citizenship Bill को लेकर सरकार पर विपक्ष हमलावर, राहुल बोले- भारतीय संविधान पर हमला     |     सड़क पर गुब्बारा बेच रहे बच्चे को नुसरत जहां ने लगाया गले, KISS करते हुए शेयर की फोटो     |     भीड़ में दिखा 12 साल पुराना दोस्त, प्रोटोकॉल भूल राष्ट्रपति कोविंद ने बुलाया स्टेज पर     |     SC का आदेश, वडाला से कासारवदावली तक पेड़ गिराए जाने पर सुनाए मुंबई हाईकोर्ट फैसला     |     कश्‍मीर में बहाल हो सामान्‍य हालात, भारत में EU के राजदूत उगो अस्‍तुतो     |     नार्थ ईस्ट में जारी हंगामा, असम में हिंसक हुआ विरोध प्रदर्शन     |     अमेरिका में सिख ड्राइवर का नस्ली अपशब्द कहे और गला घोंटने की कोशिश     |     ट्रंप पर डेमोक्रेट्स का हमला, बताया- राष्‍ट्रीय सुरक्षा के लिए है ‘खतरा’     |     दुष्‍कर्म के खिलाफ दुनियाभर की महिलाओं की आवाज बना है एक गीत, कई देशों में हो रहा प्रदर्शन     |    

Makrai Samachar

MAKDAI SAMACHAR © 2018, All Rights Reserved. | Design & Developed by SMC Web Solution.


MAKDAI SAMACHAR © 2018, All Rights Reserved. | Design & Developed by SMC Web Solution.