Wednesday , November 21 2018
Breaking News

डायबिटीज मरीजों के ल‍िए फायदेमंद है शकरकंद, जानिए अन्य फायदे

शकरकंद या स्वीट पोटैटो का सेवन सर्दियों में बहुत फायदेमंद होता है क्योंकि ये शरीर को गर्म रखता हैं। कुछ लोग इसे उबालकर तो कुछ इसका चाट बनाकर खाना पसंद करते हैं। इसमें फाइबर, एंटी-ऑक्सीडैंट, विटामिन और अन्य कई पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो शरीर को गंभीर बीमारियों से बचाने में मदद करते हैं। आज हम आपको शकरकंद के ऐसे फायदे बताएंगे, जिसे जानकर आप भी इसका सेवन शुरू कर देंगे।

1. डायबिटीज में फायदेमंद
अगर आपको डायबिटीज है तो शकरकंदी का सेवन करें। इसमें ऐसे स्लो कार्बोहाइड्रेट्स होते हैं जो ब्लड शुगर को एकदम से नहीं बढ़ाते और उन्हें कंट्रोल में रखते हैं।

2. अस्थमा के रोगी
नाक, श्वासनली और फेफड़ों में कफ जमने के अस्थमा रोगियों को काफी परेशानी होती है। ऐसे में रोज 1 शकरकंदी उबालकर खाने से कफ की समस्या दूर हो जाएगी और अस्थमा पेशेंट को आराम मिलेगा।

3. मसल्स और वजन बढ़ाने के लिए
इसमें बहुत अधिक मात्रा में स्टार्च होता है, जिससे मसल्स बढ़ाने में मदद मिलती है। इसके अलावा इसमें मौजूद विटामिन, खनिज और प्रोटीन वजन बढ़ाने में भी सहायक होते हैं।

4. दिल की बीमारियों से बचाव
रोजाना 1 शकरकंदी का सेवन जरूर करें क्योंकि इसमें कॉपर विटामिन बी 6 होता है, जो कोलेस्ट्रॉल लेवल को कंट्रोल में रखता है। इसके आप दिल की बीमारियों से बचे रहते हैं।

5. ब्‍लड सेल्‍स का करता है निर्माण
शकरकंद में भरपूर आयरन होता है, जिससे न सिर्फ शरीर को एनर्जी मिलती है बल्कि यह ब्लड सेल्स बढ़ाने में भी मदद करता है। इसके अलावा इसका सेवन शरीर में आयरन की कमी को भी दूर करता है।

6. फाइबर का अच्छा स्त्रोत
यह फाइबर का सबसे अच्छा स्त्रोत है। इसके अलावा इसमें विटामिन्स, आयरन, पोटैशियम और मैग्नेशियम भी काफी मात्रा में पाए जाते हैं, जोकि आपको स्वस्थ रखने में मदद करते हैं।

7. नवर्स सिस्टम को करता है सक्रिय
इसमें मौजूद पोटैशियम नवर्स सिस्टम को सक्रिय रखने में मदद करता है। इसके अलावा रोज कम से कम 2-3 शकरकंदी का सेवन किडनी को भी स्वस्थ रखता है।

About Mohan Gurjar

Mohan Gurjar

Check Also

आपकी ये लापरवाही आपके ब्रेन के लिए हैं बहुत खतरनाक, जानिए आप भी

आजकल कैंसर और शुगर जैसी बीमारियां बढ़ती जा रही हैं। जिससे हर कोई परेशान है। …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *