आखिर क्यों मैच खत्म होते ही अस्पताल की ओर भागते हैं पार्थिव पटेल, बड़ी वजह आई सामने

रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के विकेटकीपर बल्‍लेबाज पार्थिव पटेल इन दिनों अपने निजी जीवन में मची उथल-पुथल के बीच टीम के लिए बेहतर खेलने पर ध्यान लगा रहे हैं। वहीं पार्थिव आरसीबी की टीम के साथ बैंगलोर में हैं और मैच खेलने के लिए उन्‍हें देश के अलग-अलग शहरों का दौरा करना पड़ता है। ऐसे में आरसीबी ने मैच के बाद पार्थिव पटेल को घर जाने की अनुमति दे रखी है। खबरों के अनुसार वह हर मैच के बाद सीधे अपने पिता को देखने अस्पताल जाते हैं और फिर मैच से पहले टीम से जुड़े जाते हैं।

पार्थिव ने खुद एक अखबार से बातचीत के दौरान कहा, ‘जब मैं खेल रहा होता हूं तब मेरे दिमाग में कुछ नहीं होता है लेकिन जैसे ही मैच पूरा होता है मेरा दिल घर को सोचने लगता है। सुबह उठते ही पापा की सेहत के बारे में पूछता हूं, डॉक्टरों से बात करता हूं। कभी कभी कुछ कड़े फैसले लेने होते हैं। मेरी मां और बीवी घर पर हैं लेकिन आखिरी फैसला लेने से पहले मुझसे ही पूछा जाता है। शुरुआती दिन काफी अहम थे- क्या कुछ दिन के लिए वेंटिलेटर बंद कर दें या कितना ऑक्सीजन दिया जाना चाहिए। ऐसे फैसले लेना काफी कठिन होता है।’

पार्थिव ने आगे बताया, ‘मैच वाले दिनों में कई बार ऐसा होता है जब मेरा परिवार ऐसे फैसले लेता है और फिर मुझे बता दिया जाता है। वे नहीं चाहते हैं कि मेरा ध्यान भटकें। मानसिक रूप से काफी बोझ है लेकिन कोई क्या कर सकता है? पहले काफी बुरे ख्याल आते थे लेकिन अब परिवार ने खुद को संभाल लिया है।’

About Mohan Gurjar

Mohan Gurjar

Check Also

रोहन बोपन्ना और स्मृति मंधाना को अर्जुन अवार्ड से खेल मंत्री ने किया सम्मानित

नई दिल्ली। खेल और युवा मामलों के मंत्री किरन रिजिजू ने मंगलवार को टेनिस खिलाड़ी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

भारतीय राष्ट्रीय छात्र संघ  द्वारा प्राचार्य कक्ष में की  तालाबंदी     |     हंडिया: आसामाजिक तत्वों ने एम्बुलेंस में की तोड़फोड़     |     ICJ: ऐसे हुई थी अंतरराष्ट्रीय न्यायालय की स्थापना और यह है इसका मुख्य काम     |     दैनिक राशिफल- जानिए कैसा रहेगा आपका आज का दिन     |     घुसपैठियों को लेकर अमित शाह का बड़ा बयान, कहा- देश के हर इंच से करेंगे बेदखल     |     Ratlam में युवती के ऊपर केमिकल अटैक, जिला अस्पताल में किया भर्ती     |     प्रदूषण की रोकथाम पर केंद्रीय मंत्री का बेतुका बयान,’मैं इसमें कुछ नहीं कर सकता’     |     प्रॉपर्टी विवाद को लेकर गोलीबारी, बाप-बेटी की मौत     |     संबंध बनाने से मना करने पर प्रेमिका की चाकू घोंपकर हत्या     |     पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर की हालत बिगड़ी, भोपाल से दिल्ली रैफर     |    

Makrai Samachar

MAKDAI SAMACHAR © 2018, All Rights Reserved. | Design & Developed by SMC Web Solution.


MAKDAI SAMACHAR © 2018, All Rights Reserved. | Design & Developed by SMC Web Solution.