चुनाव से पहले Whatsapp सख्त, अब एडमिन बिना इजाजत ग्रुप में किसी को जोड़ नहीं पाएंगे

आम चुनाव में अब ज्यादा वक्त नहीं रह गया है। ऐसे में सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर मेसेज की बाढ़ आ जाती है। ऐसे में कौन सी जानकारी फेक है और कौन सी सही यह समझना बहुत जरूरी है। फर्जी खबरों से निपटने के लिए WhatsApp ने मंगलवार को ‘चेकपॉइंट टिपलाइन’ पेश की। इसके माध्यम से लोग उन्हें मिलने वाली जानकारी की प्रमाणिकता जांच सकते हैं। WhatsApp पर मालिकाना हक रखने वाली कंपनी फेसबुक ने एक बयान में कहा कि इस सेवा को भारत के एक मीडिया कौशल स्टार्टअप ‘प्रोटो’ ने पेश किया है।  इस सर्विस की लॉन्चिंग के लिए इंटरनेशनल सेंटर फॉर जर्नलिस्ट्स (ICFJ) के साथ असोसिएटेड मीडिया स्टार्टअप PROTO के साथ पार्टनरशिप की गई है। चेकप्वाइंट की मदद से मेसेजिंग ऐप प्लेटफॉर्म पर शेयर की गई जानकारी की सत्यता को परखा जा सकेगा।

क्या है ‘चेकपॉइंट टिपलाइन’
वॉट्सऐप पर मेसेजिंग सर्विस इंक्रिप्टेड होती है यानी कोई थर्ड पार्टी मेसेज को नहीं पढ़ सकता। यह टिपलाइन सर्विस तब काम करती है जब कोई यूजर अगर किसी मेसेज को वैरिफाई करना चाहता है तो ऐसे में PROTO थर्ड पार्टी नहीं बल्कि एक रिसीवर के तौर पर काम करता है। यह टिपलाइन गलत जानकारियों एवं अफवाहों का डाटाबेस तैयार करने में मदद करेगी। इससे चुनाव के दौरान ‘चेकपॉइंट’ के लिए इन जानकारियों का अध्ययन किया जा सकेगा। चेकपॉइंट एक शोध परियोजना के तौर पर चालू की गई है जिसमें WhatsApp की ओर से तकनीकी सहयोग दिया जा रहा है।’’ कंपनी ने कहा कि देश में लोग उन्हें मिलने वाली गलत जानकारियों या अफवाहों को WhatsApp के +91-9643-000-888 नंबर पर चेकपॉइंट टिपलाइन को भेज सकते हैं।

ऐसे करेगा काम
एक बार जब कोई उपयोक्ता टिपलाइन को यह सूचना भेज देगा तब प्रोटो अपने प्रमाणन केंद्र पर जानकारी के सही या गलत होने की पुष्टि कर उपयोक्ता को सूचित कर देगा। इस पुष्टि से उपयोक्ता को पता चल जाएगा कि उसे मिला संदेश सही, गलत, भ्रामक या विवादित में से क्या है। प्रोटो का प्रमाणन केंद्र तस्वीर, वीडियो और लिखित संदेश की पुष्टि करने में सक्षम है। यह अंग्रेजी के साथ हिंदी, तेलुगू, बांग्ला और मलयालम भाषा के संदेशों की पुष्टि कर सकता है।

About Mohan Gurjar

Mohan Gurjar

Check Also

अगर आप भी गूगल मैप्स के जरिए देखते हैं रास्ता, तो पहले पढ़ लें ये खबर

नई दिल्लीः अनजान रास्तों में किसी तरह की दिक्कत न हो, इसके लिए हम अक्सर गूगल …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

भारतीय राष्ट्रीय छात्र संघ  द्वारा प्राचार्य कक्ष में की  तालाबंदी     |     हंडिया: आसामाजिक तत्वों ने एम्बुलेंस में की तोड़फोड़     |     ICJ: ऐसे हुई थी अंतरराष्ट्रीय न्यायालय की स्थापना और यह है इसका मुख्य काम     |     दैनिक राशिफल- जानिए कैसा रहेगा आपका आज का दिन     |     घुसपैठियों को लेकर अमित शाह का बड़ा बयान, कहा- देश के हर इंच से करेंगे बेदखल     |     Ratlam में युवती के ऊपर केमिकल अटैक, जिला अस्पताल में किया भर्ती     |     प्रदूषण की रोकथाम पर केंद्रीय मंत्री का बेतुका बयान,’मैं इसमें कुछ नहीं कर सकता’     |     प्रॉपर्टी विवाद को लेकर गोलीबारी, बाप-बेटी की मौत     |     संबंध बनाने से मना करने पर प्रेमिका की चाकू घोंपकर हत्या     |     पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर की हालत बिगड़ी, भोपाल से दिल्ली रैफर     |    

Makrai Samachar

MAKDAI SAMACHAR © 2018, All Rights Reserved. | Design & Developed by SMC Web Solution.


MAKDAI SAMACHAR © 2018, All Rights Reserved. | Design & Developed by SMC Web Solution.