मॉक पोल के दौरान या मतदान के दौरान अगर ईवीएम या वीवीपैट मशीन खराब हो जाएंगे तो क्या करेंगे

हरदा /मॉक पोल के दौरान या मतदान के दौरान अगर ईवीएम या वीवीपैट मशीन खराब हो जाएंगे तो क्या करेंगे ? कलेक्टर श्री एस विश्वनाथन ने इस तरह के प्रश्न इलेक्शन ट्रेनिंग में आए प्रशिक्षणार्थियों से पूछे। समाधान कारक जवाब मिलने पर प्रसन्नता जाहिर की । कलेक्टर ने कहा कि ऑल विमेन मैनेज्ड बूथ के पिछले विधानसभा चुनाव के अनुभव को देखते हुए इस बार उसकी संख्या बढ़ाई जाएगी। कलेक्टर ने मतदान अधिकारियों से विधानसभा चुनाव के दौरान हुए अनुभव के बारे में भी पूछताछ की।लोकसभा आम निर्वाचन 2019 में मतदान संपन्न कराने हेतु मतदान दलों को आज पाॅलिटेक्निक काॅलेज हरदा में प्रशिक्षण दिया गया।

कलेक्टर श्री विश्वनाथन ने मतदान दलों के सदस्यों को कहा कि निर्वाचन में कोई भी भूल क्षम्य नहीं होती है। निर्वाचन की आयोग द्वारा निर्धारित विधिवत प्रक्रिया है जिसका पालन हम सबको करना अनिवार्य है, इसलिए आवश्यक है कि निर्वाचन हेतु मतदान दल में तैनात दल के सदस्य पूरी मतदान प्रक्रिया की भलीभांति अध्ययन कर लें तथा प्रशिक्षण पूरी गंभीरता से लेते हुए जहां भी जो भी शंकायें हो प्रशिक्षण के समय उनका समाधान कर लें। साथ ही प्रशिक्षण के अंतिम चरण में भौतिक रूप से ईव्हीएम मशीन , बीयू सीयू , व्ही व्ही पैट के कनेक्शन करके देख लें। विभिन्न परिस्थितियो में मशीनों के उपयोग तथा संभावित गलतियों एवं उनके सुधार के संबंध में भी प्रेक्टिकल करके देख लेें। प्रशिक्षण के दौरान सभी प्रशिक्षणार्थियों के चेहरे में उत्सुकता का भाव होना चाहिए। उनमें इतना कान्फीडेंस होना चाहिये कि वे अब मतदान प्रक्रिया को बिना किसी सहयोग के संचालित कर सकेगे।

पीठासीन अधिकारी की जिम्मेदारी सबसे महत्वपूर्ण

मास्टर ट्रेनर्स ने प्रशिक्षण में बताया कि मतदान केन्द्र पर पीठासीन अधिकारी की जिम्मेदारी सबसे अहम हैं। वह मतदान केन्द्र का प्रभारी होगा। अभ्याक्षेपित मतदाता, निविदत मतदाता, प्राक्सी मतदाता, दिव्यांग मतदाता अथवा किसी भी विषम परिस्थिति में कार्यवाही पर उसको निर्णय लेना होगा। पीठासीन अधिकारी केन्द्र प्रभारी होने के अलावा निर्वाचन संचालन दल का मुखिया भी होगा। वह मतदान सामग्री प्राप्त करने से लेकर सामग्री जमा करने के लिए उत्तरदायी होगा। सम्पूर्ण मतदान प्रक्रिया के त्रुटिरहित संचालन स्वतंत्र-निष्पक्ष मतदान के लिए पीठासीन अधिकारी की जिम्मेदारी रहेगी। मतदान अधिकारी क्रमांक 1 चिन्हित प्रति का प्रभारी होगा। वह निर्वाचक की पहचान सुनिश्चित करने के साथ ही निर्वाचक नामावली में चिन्हांकन करेगा। बताया गया कि मतदान अधिकारी क्रमांक 2 अमिट स्याही का प्रभारी होगा। मतदाता के बाएं हाथ की तर्जनी पर अमिट स्याही लगाएगा। प्राक्सी वोटर के बाएं हाथ की मध्यमा में अमिट स्याही लगाएगा। मतदान अधिकारी क्रमांक 3 ईवीएम की कंट्रोल यूनिट का प्रभारी होगा। वह मतदाता को मतदान कक्ष में जाने, मत अंकित करने की अनुमति देने व प्राप्त मतदान पर्ची को क्रमानुसार रखने का कार्य करेगा। प्रशिक्षण में बताया गया कि मतदान प्रक्रिया माकपोल के पश्चात ही प्रारंभ की जाएगी। माकपोल संबंधित मतदान कक्ष में उम्मीदवारों के अभिकर्ताओं की उपस्थिति में कम से कम 50 मत डाले जाना चाहिए किंतु यह आवश्यक है कि निर्वाचन लडने वाले अभ्यर्थियों के समान अनुपात में माकपोल किया जाए।

विशेष सामग्रियों की जानकारी दी गई

प्रशिक्षण में पीठासीन अधिकारी तथा मतदान अधिकारी क्रमांक 1 को मतदान केन्द्र पर मतदान के लिए प्रयुक्त की जाने वाली बेलेट यूनिट, कंट्रोल यूनिट, वीवीपैट, पीठासीन अधिकारी की डायरी आदि के उपयोग की जानकारी दी गई। साथ ही अन्य विशेष सामग्रियां जैसे हरिपत्र मुद्रा, पेपर स्ट्रीप, सील, स्पेशल टैग केन्द्र की सील, अमिट स्याही, चिन्हित प्रति, पीतल की सील, पिंक पेपर सील, मॉकपोल सील, ब्रेल लिपि डमी मतपत्र, प्लास्टिक बॉक्स, मॉकपोल सील, काला लिफाफा, मतदान प्रकोष्ठ, डिजिटल शीट, 16 बिन्दु प्रपत्र की भी जानकारी प्रदान की गई।

मतदान केन्द्र तैयार करने के बारे में समझाया गया

प्रशिक्षण में मतदान दलों को मतदान केन्द्र तैयार करने के बारे में समझाया गया। मतदान केन्द्र निरीक्षण, सामग्री निरीक्षण, 100 मीटर के घेरे का निरीक्षण कर प्रचार-प्रसार संबंधित सामग्री हटाने, मतदान केन्द्र से 200 मीटर की दूरी को चिन्हित कर इसके बाहर ही राजनीतिक पार्टियों के पण्डाल होने, नोटिस बोर्ड में प्रारूप 7 निर्वाचकों की विशिष्टियों का नोटिस, मतदान संबंधी आवश्यक निर्देश, मतदान केन्द्र क्रमांक एवं नाम, मतदाता की सूची, मतदान का समय, दिनांक आदि जानकारी चस्पा करने, विभिन्न प्रपत्रों को संबंधित लिफाफों में आवश्यक जानकारी प्रविष्ट करने के बारे में प्रशिक्षित किया गया। मतदान दल मतदान अधिकर्ता को मतदान आरंभ होने के समय के एक घण्टे पूर्व अनिवार्यतः मतदान केन्द्र में उपस्थित होने हेतु कहेंगे। मतदान दलों को मॉकपोल की प्रक्रिया भी समझाई गई।

मास्टर ट्रेनर्स ने बताया कि मतदान चालू होने पर मतदान केन्द्र पर दल द्वारा क्या कार्यवाही की जाएगी, मतदान अधिकारी क्रमांक 1 मतदाता का नाम जोर से बोलेगा। मतदाता की पहचान का सत्यापन आयोग द्वारा निर्धारित पहचान पत्रों से किया जाएगा। पहचान संबंधी समाधान न होने की दशा में मतदाता को पीठासीन अधिकारी के समक्ष पहुंचाया जाएगा। अन्य चरण भी समझाए गए। अमिट स्याही लगाने का तरीका बताया गया। प्रशिक्षण में मतदान दल को मतदाता की तर्जनी में अमिट स्याही लगाने का तरीका बताया गया। मतदाता के बाएं हाथ की तर्जनी में मतदान अधिकारी क्रमांक 2 अमिट स्याही लगाएगा। यदि बांए हाथ की तर्जनी नहीं हो तो उसकी ऐसी किसी भी उंगली पर अमिट स्याही लगाई जाएगी जो उसके बाए हाथ में होगी। बायां हाथ नहीं होने की स्थिति में यह प्रक्रिया दाएं हाथ में सम्पन्न की जाएगी। दोनों हाथों की उंगली न होने पर बांए हाथ के ठूंठ पर अमिट स्याही लगाई जाएगी। ऐसे प्रकरण में मतदाता के साथी के हस्ताक्षर या अंगूठा मतदाता रजिस्टर के हस्ताक्षर कॉलम में अंकित किया जाएगा।

विशेष परिस्थितियों में की जाने वाली कार्यवाही बताई 

प्रशिक्षण में मतदान प्रक्रिया के दौरान विशेष परिस्थितियों जैसे अभ्याक्षेपित मत, निविदत मत, टेस्टिंग मत, प्राक्सी वोटर, दिव्यांग मतदाता, मशीन की खराबी, मतदाता की आयु कम परिलक्षित होने, दिव्यांग मतदाता, मतदान केन्द्र पर बलवा, प्राकृतिक आपदा आदि विशेष परिस्थितियों पर की जाने वाली कार्यवाहियों का प्रशिक्षण किया गया। इसके अलावा प्रशिक्षण में मतदाता रजिस्टर, रिकार्ड किए गए मतपत्रों का लेखा, निर्वाचन ड्यूटी प्रमाण पत्र, डाक मतपत्र के लिए आवेदन, पीठासीन अधिकारी के लिए सामग्री चेक मेमो, पीठासीन अधिकारी द्वारा घोषणा, दिखावटी मतदान प्रमाण पत्र, ईवीएम के लिए मॉडर्न मतदान केन्द्र का लेआउट, चैलेंज फीस की रसीद बुक आदि सभी महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर विस्तृत प्रशिक्षण मास्टर ट्रेनर्स ने दिया। प्रशिक्षण में मास्टर ट्रेनर द्वारा विभिन्न कक्षों में मतदान दलों को सैद्धांतिक एवं प्रेक्टिकल प्रशिक्षण दिया गया।

About Mohan Gurjar

Mohan Gurjar

Check Also

भाजपा विधायक कमल पटेल ने राहुल गांधी पर की अनर्गल टिप्पणी , युवा कांग्रेस अध्यक्ष श्री चौहान ने किया पलटवार

मकड़ाई समाचार हरदा/ कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा जगह जगह कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Makrai Samachar

रबी उपार्जन हेतु जिले में तैयारियाँ पूर्ण, 25 मार्च से 24 मई तक होगा उपार्जन कार्य      |     हमला समाचार पत्र संपादक कमल वर्मा पर भूमाफिया बंड्या और उसके गुर्गों ने किया जानलेवा हमला     |     आबकारी विभाग की कार्यवाही, अलग अलग स्थानों पर दंबिश देकर हाथभट्टी शराब पकड़ी     |     भाजपा विधायक कमल पटेल ने राहुल गांधी पर की अनर्गल टिप्पणी , युवा कांग्रेस अध्यक्ष श्री चौहान ने किया पलटवार     |     खुद को पत्रकारों का ‘बाप’ बता कर विवादों में घिरे BJP के मंत्री     |     चंबल नदी में कूदा प्रेमी जोड़ा, लड़की को जिंदा निकाला लड़का लापता     |     हाउस कीपर को बंधक बनाकर छात्र ने किया दुष्कर्म, मामला दर्ज     |     भोपाल से दिग्विजय सिंह का नाम तय, CEC ने लगाई मुहर     |     राहुल गांधी देश की जनता और शहीदों से माफी मांगें: अमित शाह     |     आज से हो रहा IPL 2019 का आगाज, CSK vs RCB के बीच पहली टक्कर     |    

MAKDAI SAMACHAR © 2018, All Rights Reserved. | Design & Developed by SMC Web Solution.


MAKDAI SAMACHAR © 2018, All Rights Reserved. | Design & Developed by SMC Web Solution.