टिमरनी: मनरेगा में चल रहा फर्जी मस्टररोल का खेल, भटक रहे गरीब मजदूर चांदी काट रहे अमीर

डिजिटल ग्राम पंचायत छिदगांव तमौली, में भ्रष्टाचार की भरमार

मकड़ाई समाचार
हरदा/ भारत सरकार द्वारा चलाई गई मनरेगा योजना में जहा गरीब परिवारों को ग्राम पंचायतों के द्वारा, वर्ष में 100 दिन मजदूरी देने के शासन के दिशा निर्देश है। गॉवो में गरीब परिवारों को भी रोजगार मिले इस योजना का मुख्य उद्देश्य था। लेकिन यह योजना अब सरपंच सचिव के मनमर्जी की होकर रह गई। शासन के आदेश को दरकिनार रखकर स्वयं के नियम कानून अब ग्राम पंचायतों में चल रहे है। क्योकि जब तक भ्रस्टाचारुपि दानव रहेगा। भ्रस्ट नेता और अफसर रहेंगे तब तक गरीब सिर्फ गरीब ही बनकर रहेगा। वर्तमान समय मे देखा गया है। अमीर और अमीर हो रहा गरीब को दो वक्त का खाना भी नसीब नही क्योकि शासन की महत्वपूर्ण योजना अधिकारियों के हाथ की कठपुतली बनकर रह गई। और भ्रष्टाचार रूपी दानव अपने पैर पसार कर उन गरीब परिवारों की खुशियों को दरकिनार कर उस योजनाओं को अपने नाम कर अपना उल्लू सीधा कर रहा है। हम बात कर रहे है। जिले की एक ऐसी ग्राम पंचायत जहा मनरेगा योजना के नाम पर गड़बड़झाला हुआ। यहां गांव के बड़े धन्नासेठ जिनके पास टेक्टर गाड़ी ओर जो प्रतिदिन बुलेट की सवारी करते है जिनके पास 10 से 30 एकड़ के किसान है। कृषि भूमि है। वो लोग पंचायत के रिकार्ड में मजदूर है। जिनके खाते में प्रतिमाह मनरेगा में काम करने का पैसा आ रहा है यहां पर वास्तविक गरीब परिवारों को काम नही मिला , ओर जिन्होंने काम किया उन्हें दाम नही मिला । ओर आज वो लोग अपनी मजदूरी का पैसा लेने दर दर भटक रहे । यह ग्राम पंचायत है छिदगांव तमौली गत दिनों गांव के महिला और पुरुषो ने जिला कलेक्टर को जनसुनवाई में आवेदन देकर कार्यवाही की मांग भी की। अब देखना है। कि जिलाधीश महोदय इस फर्जी मस्टररोल की जांच कर क्या दोषियों पर कार्यवाही करेगे या फिर राजीनीति से जुड़े लोग अपने चहेतों को बचा लेगे।

क्या है पूरा मामला

मंगलवार को जिला जनसुनवाई में ग्राम छिदगांव तमोली की वार्ड क्रमांक 5 की पंच सुमनबाई ओर वार्ड क्रमांक 4 पंच कुसुम बाई सहित गांव के एक दर्जन लोगों ने ग्राम पंचायत छिदगांव तमोली में हो रही अनियमितता ओर सरपंच सचिव की मनमर्जी से आहत होकर कलेक्टर से शिकायत की की गई शिकायत में ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि गाँव के कहि धन्नासेठों के नाम जॉबकार्ड पर चल रहे और उनके खाते में लगातार मजदूरी की राशि भी जा रही है। शिकायत करने वाले मजदूरों ने कहा कि हम गाँव मे बर्षो से रह रहे गांव के ऐसे कहि लोग जो आजतक मजदूरी करने नही गए। फिर भी उनके खाते में ग्राम पंचायत का सचिव गणेश बांके राशि डाल रहा है। ग्रामीणों ने इसके अलावा भी कही गम्भीर आरोप लगाए है। प्रधानमंत्री आवास योजना, शौचालय योजना में भी भ्रष्टाचार खूब हुआ।

छिदगांव तमोली की कॉलोनी में एक दर्जन शौचालय इसी प्रकार पड़ी है अधूरी।

 

 

 

 

 

 

घर घर शौचालय बनाने जिस बुजुर्ग गंगादीन ने की थी पहल, उसके घर नही बना शौचालय

ऑपरेशन मलयुद्ध के तहत रात ओर दिन जिसने लोगों को शौचालय बनाने के लिए बुजुर्ग गंगादीन ने पहल की स्वयं ने गांव का कूड़ा मल फेका भी अच्छे उत्कृष्ट कार्यो के लिए स्वयं तात्कालिन जिलाधीश रजनीश श्रीवास्तव ने प्रमाणपत्र देकर जिस बुजुर्ग को सम्मानित किया ग्राम पंचायत ने उसके घर न शौचालय बनाकर दी और नही उसकी सुनी आज वह स्वयं ओर उसका परिवार खुले में शौच करने जा रहा है।
शौचालय के नाम पर भी यहां बड़ा घोटाला सामने आ रहा है। छिदगांव तमोली की कालोनो में ऐसे कहि परिवार रहते है। जिनके पास शौचालय नही है। कहि जगह हितग्राहियों को दो सौ ईट ओर मुर्गा ही दिया है। यहां कागजो में ग्राम पंचायत ओडीएफ हो चुकी लेकिन वास्तव में जमिनी हकीकत कुछ और ही बया कर रही है।

प्रधानमंत्री आवास योजना से वास्तविक गरीब वंचित ,अपात्रों को दिया लाभ

यहां पर प्रधानमंत्री आवास योजना अंतर्गत जो सर्वे सूची आई हुई थी उसमें कई गरीब हितग्राहियों को योजना का लाभ नहीं मिला। ग्राम पंचायत सरपंच सचिव ने मिलकर अपने चहेतों जिनको पूर्व में कुटीर योजना का लाभ मिल चुका उन्हें दे दिया। और गरीब परिवारो के नाम काट दिए गए है। मकड़ाई समाचार की टीम ने जब गरीब परिवारों के घरों की दशा देखी तो दंग रह गए। कच्ची मिट्टी की दीवारे जो जगह जगह से दम तोड़ चुकी ऐसे जर्जर मकान में गरीब परिवार अपनी रात गुजार रहे है। ऐसा ही एक नाम है। मदनलाल मल्हारे इनका नाम सर्वे सूची में आया भी था। लेकिन ग्राम पंचायत ने यह कहकर नाम काट दिया कि बर्षो पहले इन्हें कुटीर मिली थी। ऐसे ही अमरसिंह मल्हारे, राधेश्याम, चंपाकली बाई, का भी नाम काट दिया गया। जबकि यह सभी लोग कच्चे पुराने मकान ओर घास पूस की झोपड़ी में निवास कर रहे है। ओर दूसरी ओर गांव में कुछ ऐसे परिवार भी है। जिनके पहले से ही पक्के मकान बने थे। पूर्व में उनके द्वारा कुटीर भी ली गई थी। लेकिन सरपंच सचिव की मेहरबानी के चलते उनको दूसरी बार भी योजना का लाभ दिया गया।

गरीबो को नही मिला मनरेगा की मजदूरी का पैसा, 1 साल पहले किया था काम

छिदगांव तमोली गाँव मे अमीर परिवारों के खातों में बिना काम किये पैसा डाला जा रहा गरीब ने जिस सड़क पर मेहनत मजदूरी की पसीना बहाया उसे उसका हक ओर मजदूरी का दाम नही मिला ऐसा ही कुक कहना है। यहां के कुछ मजदूरों का जिसमे एक महिला पंच भी है। जिसने एक साल पहले एक ग्रेवल मार्ग पर मजदूरी की उसे आज तक राशि नही दी। गलती मेट की है। या सचिव की यह हम नही बता सकते लेकिन इतना जरूर है। कि मजदूरों ने काम जरूर किया है। क्योंकि गांव के कई लोगो ने उनका पक्ष भी रखा। वार्ड क्रमांक 5 की पंच सुमन बाई का आरोप है कि उसने पिछले साल मुक्तिधाम में दो हफ्ते काम किया लेकिन मजदूरी नही मिली। गाँव के ही आंवलसिह ने भी एक ग्रेवल मार्ग में काम किया मजदूरी नही मिली। इसी प्रकार एक अन्य महिला माया योगी का कहना है कि मैने 19 हफ्ते एक ग्रेवल मार्ग पर काम किया लेकिन मेरे को 16 हफ्ते के ही पैसे मिले। जिसको लेकर सरपंच सचिव को कहि बार शिकायत की लेकिन कोई ध्यान नही देते।

सही जांच हुई तो फर्जी मस्टररोल के मामले में हो सकती है। FIR

अगर जिला कलेक्टर ग्राम पंचायत में चल रहे फर्जी मस्टररोल के गड़बड़झाले की सही ढंग से निष्पक्ष जांच करवाते है। तो ऐसे कहि धन्नासेठों के नाम सामने आयेंगे जो लाखो करोड़ो के मालिक है। जिनके पास जमीन ट्रेक्टर फोर व्हीलर वाहन, दुकान व्यवसाय भी है। जिनके विभिन्न बैंकों में प्रतिबर्ष लाखों रुपये का आदान प्रदान हुआ है। उन लोगो को ग्राम पंचायत ने जॉबकार्ड धारी बताकर उनके खाते में मनरेगा योजना अंतर्गत मजदूरी की राशि डाली है। गरीब परिवारों के हक ओर अधिकारों को डकारने वाले भ्रस्ट सरपंच सचिव पर कार्यवाही होना चाहिए। ग्रामीणों ने भी जिला कलेक्टर को जनसुनवाई में सौपे गए ज्ञापन के माध्यम से उचित जांच कर दोषियों पर कठोर कार्यवाही की मांग की है।

गणेश बांके सचिव ग्राम पंचायत छिदगांव तमौली

इनका कहना है।

जिन लोगो ने मनरेगा में काम किया उनके खाते में राशि डाली।बड़े किसान भी मजदूरी करते है। इसके अलावा सभी घर शौचालय बने है।
गणेश बांके
सचिव
ग्राम पंचायत छिदगांव तमोली

About Mohan Gurjar

Mohan Gurjar

Check Also

प्रदेश में सत्ता जाने से भाजपा नेताओं का दिमागी सन्तुलन बिगड़ा- लक्ष्मीनारायण पँवार(कांग्रेस जिलाध्यक्ष)

हरदा/ हरदा कांग्रेस जिलाध्यक्ष लक्ष्मीनारायण पँवार ने भाजपा द्वारा 24 जून 2019 को धरना प्रदर्शन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

त्राल एनकाउंटर में मारा गया आतंकी शब्बीर अहमद मलिक, जाकिर मूसा के आतंकी समूह से जुड़े थे तार     |     सदन में सदस्यों के व्यवहार पर नाराज वेंकैया नायडू बोले- इससे बेहतर तो स्कूल होता है     |     नगर निगम ने 165 लापरवाह कर्मचारी किए बर्खास्त, 15 निलंबित     |     गेटमैन की आंखों में मिर्ची डाल कर बाल सुधार गृह से भागे तीन कैदी     |     राजस्व मंत्री गोविंद राजपूत की शिकायत लेकर आरिफ अकील के पास पहुंचे तहसीलदार     |     BJP नेता विजयवर्गीय के विधायक बेटे का “गुंडा अवतार’, बैट से की अफसर की पिटाई     |     कमलनाथ सरकार के एक और मंत्री सवालों के घेरे में, डायस पर बैठकर जमाई धौंस     |     धनकुबेर निकला रिटायर्ड SDO, करोड़ों की संपत्ति का हुआ खुलासा     |     बलात्कार से पहले बच्ची को गोद में उठाकर ले गया था आरोपी, सीसीटीवी में हुआ कैद     |     टिप टिप बरसा पानी’ गाने पर इस अभिनेत्री संग अक्षय कुमार करेंगे रोमांस,     |    

Makrai Samachar

MAKDAI SAMACHAR © 2018, All Rights Reserved. | Design & Developed by SMC Web Solution.


MAKDAI SAMACHAR © 2018, All Rights Reserved. | Design & Developed by SMC Web Solution.